गाया है K L Saigal ने। लिखा है Majrooh ने। गीतायन पर खोजें

असल में

ham jii ke kyaa kare.nge, jab dil hii TuuT gayaa

Vivek ने जैसा सुना/समझा
ham jii ke kyaa kare.nge, jab *dillii* TuuT gayaa

बकौल Vivek,
jab dillii shahar hii nahii.n rahaa..
2 की पसंद - मेरी भी!
1 और ने यही समझा - मैंने भी!


चर्चा

pratibha ने लिखा,

kya kah rahe hain aap log

आपकी बात

आपका नाम

5 + 2 =


सर्वाधिकार सुरक्षित © 2005 विनय जैन