गाया है Kishore ने। लिखा है Anand Bakshi ने। गीतायन पर खोजें

असल में

terii hayaa, terii sharam, terii qasam mere ho.nTh si_e jaa_e

Amarendra R. N. ने जैसा सुना/समझा
terii hayaa, terii sharam, terii qasam mere *hosh li_e* jaa_e

1 की पसंद - मेरी भी!
10 और ने यही समझा - मैंने भी!


चर्चा

Pramod ने लिखा,

no not again! ho.nTh si_e jaa_e
is terrible. hosh li_e jaa_e is superb
pranoti wadnere ने लिखा,
thanks for the update

आपकी बात

आपका नाम

5 + 4 =


सर्वाधिकार सुरक्षित © 2005 विनय जैन